नदियों के रौद्र रुप से लोगों मे दहशत, पिथौरागढ़ में 40 घंटे से चेतावनी निशान के करीब बह रही काली नदी


पिथौरागढ़ : पिथौरागढ़ जनपद में 60 घंटे से अधिक समय बाद भी काली नदी लगातार चेतावनी निशान के करीब बह रही है। जिससे 5जनपद में आफत की हजार से अधिक की आबादी में दहशत में रह रही है। सीमांत जनपद में भारी बारिश के बाद नदियों ने रौद्र रुप धारण कर लिया है।

काली, गोरी, सरयू व धौली गंगा के साथ 10 से अधिक सहायक नदियों का जल स्तर  लोगों को डराने का काम कर रहा है। जनपद में काली नदी का चेतावनी निशान 889 मीटर है। लगातार यह नदी 60 घंटों से अधिक समय से लोगों को डरा रही है।

नदी चेतावनी निशान के करीब बह रही है। अभी भी जल स्तर में कमी नहीं आ पा रही है। गोरी नदी में मंगलवार को 606.75 मीटर पर बह रही थी। जिसमें तेजी से पानी कम हुआ है। गोरी नदी अब 605मीटर पर बह रही है। इस नदी का चेतावनी निशान 606.80मीटर है। धौली व रामगंगा का जल स्तर भी बढ़ा हुआ है।

सरयू नदी 24घंटे पहले तक 452.90मीटर पर बह रही थी। डेंजर लेबल के करीब बह रही इस नदी में अब पानी में कुछ कमी देखी गई है। 452मीटर के चेतावनी निशान से पानी अब कुछ कम हुआ है।

काली नदी में पानी बढ़ने से जौलजीबी, बलुवाकोट, झूलाघाट, धारचूला, कालिका में भी लोग डरे हुए हैं। 60 से अधिक मकानों को अब भी इस नदी से भूकटाव का खतरा बना हुआ है।

 



You might also like
Don`t copy text!